अमेरिका के प्रथम राष्ट्रपति जार्ज वाशिंगटन एक बार की बात है उत्तरी वर्जीनिया के जंगल में एक पार्टी का आयोजन हो रहा था, सहसा एक स्त्री के आर्तनाद ने सबको चौका दिया। सबलोग उस ओर चल पड़े, स्त्री ने इन लोगों में से एक युवक को देखकर पुकारा कि ‘देखिये ये लोग मुझको छोड़ते नहीं है। मेरा लड़का नदी में गिर गया है। मुझे इन लोगों से छुड़ा लीजिए जिससे मैं अपना लड़का नदी से निकाल सकूँ।’ जिन लोगों ने स्त्री को पकड़ रखा था वो ये सोच रहे थे कि यदि वे इसे छोड़ देंगे तो वह अवश्य पानी में जाकर लड़के के साथ खुद भी डूब जाएगी क्यूंकि नदी गहरी थी और जल प्रवाह काफी तेज था। स्त्री की पुकार सुनते ही वह युवक नदी में कूद पड़ा। जहाँ बच्चे का वस्त्र दिखाई दे रहा था, जल प्रवाह को पार करता हुआ, वह वहाँ जा पहुँचा और उसने बच्चे को हाथ से पकड़ तो लिया पर वह हाथ से फिर निकल गया। फिर जल के वेग ने उन दोनों को डूबो दिया। बड़ी देर में परिश्रम और साहस के साथ वह युवक अंत में उस लड़के को ऊपर उठाए चट्टान पर आ गया। दर्शक लोग और वह स्त्री दौड़कर दोनों के पास पहुँचे। बच्चा और युवक दोनों बेसुध और अशक्त हो गये थे थोड़ी देर बाद दोनों को होश आया स्त्री ने बच्चे को छाती से लगाया और युवक को आशीर्वाद देती हुई चली गई। वह संवेदनशील साहसी युवक थे अमेरिका के प्रथम राष्ट्रपति जार्ज वाशिंगटन!!

अमेरिका के प्रथम राष्ट्रपति जार्ज वाशिंगटन

एक बार की बात है उत्तरी वर्जीनिया के जंगल में एक पार्टी का आयोजन हो रहा था, सहसा एक स्त्री के आर्तनाद ने सबको चौका दिया।
सबलोग उस ओर चल पड़े, स्त्री ने इन लोगों में से एक युवक को देखकर पुकारा कि ‘देखिये ये लोग मुझको छोड़ते नहीं है। मेरा लड़का नदी में गिर गया है। मुझे इन लोगों से छुड़ा लीजिए जिससे मैं अपना लड़का नदी से निकाल सकूँ।’
जिन लोगों ने स्त्री को पकड़ रखा था वो ये सोच रहे थे कि यदि वे इसे छोड़ देंगे तो वह अवश्य पानी में जाकर लड़के के साथ खुद भी डूब जाएगी क्यूंकि नदी गहरी थी और जल प्रवाह काफी तेज था।
स्त्री की पुकार सुनते ही वह युवक नदी में कूद पड़ा। जहाँ बच्चे का वस्त्र दिखाई दे रहा था, जल प्रवाह को पार करता हुआ, वह वहाँ जा पहुँचा और उसने बच्चे को हाथ से पकड़ तो लिया पर वह हाथ से फिर निकल गया। फिर जल के वेग ने उन दोनों को डूबो दिया।
बड़ी देर में परिश्रम और साहस के साथ वह युवक अंत में उस लड़के को ऊपर उठाए चट्टान पर आ गया। दर्शक लोग और वह स्त्री दौड़कर दोनों के पास पहुँचे। बच्चा और युवक दोनों बेसुध और अशक्त हो गये थे थोड़ी देर बाद दोनों को होश आया स्त्री ने बच्चे को छाती से लगाया और युवक को आशीर्वाद देती हुई चली गई।
वह संवेदनशील साहसी युवक थे अमेरिका के प्रथम राष्ट्रपति जार्ज वाशिंगटन!!

Advertisements