मर्जी है आपकी, आखि‍र करि‍यर है आपका

मर्जी है आपकी, आखि‍र करि‍यर है आपका


अक्सर यह देखने में आता है कि दसवीं के बाद बच्चों में निर्णय लेने की क्षमता कम होती है और इस कारण करियर के बारे में या तो माता-पिता या फिर जो दोस्त कर रहे हैं, वही करियर विकल्प का चुनाव किया जाता है। ऐसी स्थिति में करियर का चुनाव करने से पूर्व विशेषज्ञ की सेवाएँ जरूर लें और इस बात पर ध्यान दें कि आप स्वयं क्या अच्छा कर सकते हैं। माता-पिता के लिए भी यह बात सोचने लायक है कि वे बच्चों पर करियर थोपे नहीं वरन्‌ उनकी मर्जी के अनुरूप करियर चुनने दें।

अपने करियर को लेकर अब किशोरवय बालक-बालिकाएँ इतनी सजग हो गई हैं कि वे कक्षा दसवीं में ही करियर की राह कौन-सी होना चाहिए, इस बारे में विचार करने लगते है, पर करियर कैसा होना चाहिए और कितने और भी विकल्प मौजूद हैं, इस ओर ध्यान कम ही जाता है।

अब पहले जैसा जमाना नहीं रहा है कि 12वीं के बाद किस क्षेत्र में करियर बनाया जाए, इस बात को लेकर घर में मंथन होता हो। अब तो दसवीं कक्षा के दौरान ही स्टूडेंट यह तय कर लेते हैं कि उन्हें अपने करियर की दिशा किस ओर मोड़नी है और खासतौर पर उन्हें क्या अच्छा लगता है। इस बार हम इस बात की जानकारी दे रहे हैं कि करियर बनाने के कितने पारंपरिक व नए विकल्प हो सकते हैं।
प्रोफेशनल कोर्सेस
आज सभी प्रोफेशनल कोर्सेस करने के लिए प्रयत्नशील रहते हैं, क्योंकि इस ओर आने वाले युवाओं को कॉर्पोरेट वर्ल्ड का खासा आकर्षण रहता है। इस कारण वे परंपरागत कोर्सेस की बजाय इन प्रोफेशनल कोर्सेस की तरफ ज्यादा ध्यान देते हैं। इनमें आईटी और मैनेजमेंट फील्ड से संबंधित कोर्स प्रमुख हैं। इन कोर्सों की विशेषता यह है कि इन्हें करने के बाद अक्सर कैम्पस रिक्रूटमेंट के माध्यम से बड़ी-बड़ी कंपनियों द्वारा आकर्षक पैकेज पर जॉब प्लेसमेंट कर लिया जाता है।

बैचलर ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट (बीबीए), बैचलर ऑफ कम्प्यूटर एप्लिकेशंस (बीसीए), डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट, डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट एंड कैटरिंग टेक्नोलॉजी, बैचलर इन इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (बीआईटी), रिटेल मैनेजमेंट, बीएससी (कम्प्यूटर स्टडीज), डिप्लोमा इन एडवरटाइजिंग, प्रमोशन एंड सेल्स मैनेजमेंट, ट्रैवल एंड टूरिज्म, फैशन डिजाइनिंग, इवेंट मैनेजमेंट, पब्लिक रिलेशन आदि। इसके अलावा एनिमेशन, ग्राफिक डिजाइनिंग, एस्ट्रोनॉमी, लिंग्विस्टिक, एविएशन आदि के शॉर्ट टर्म कोर्स करके भी आप अपना करियर सँवार सकते हैं।
साइंस के क्षेत्र में भी कई विकल्प हैं, जिसमें मुख्यतः किसी प्रतिष्ठित संस्थान से बीएससी या बीएससी (ऑनर्स) कर सकते हैं। यदि वे टेक्निकल या प्रोफेशनल कोर्स करना चाहते हैं तो इंजीनियरिंग (बारहवीं पीसीएम के बाद) और मेडिकल (पीसीबी) स्ट्रीम चुन सकते हैं, लेकिन इंजीनियरिंग (चार वर्षीय बीटेक या बीई) या मेडिकल लाइन (एमबीबीएस आदि) के लिए अखिल भारतीय प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करना होगी।

इंजीनियरिंग की तैयारी करने वाले स्टूडेंट्स अनेक कॉम्पीटेटिव एग्जाम्स, जैसे-एआईईईई, आईआईटीजेईई, गेट आदि के टेस्ट देकर इंजीनियरिंग में प्रवेश ले सकते हैं, वहीं दूसरी ओर मेडिकल फील्ड की ओर रुख करने वाले स्टूडेंट्स के लिए एमबीबीएस कोर्स के अलावा करियर के तौर पर माइक्रोबायोलॉजी, फिजियोथेरेपि, वेटरनरी साइंस, होम्योपैथी, डेंटिस्ट्री आदि क्षेत्रों के विकल्प हैं।

कॉमर्स के क्षेत्र में करियर बनाने वालों के लिए बीकॉम (पास) और बीकॉम (ऑनर्स) का विकल्प है। इसके जरिए आप बिजनेस अकाउंटिंग, फाइनेंशियल अकाउंटिंग, कॉस्ट अकाउंटिंग, ऑडिटिंग, बिजनेस लॉ, बिजनेस फाइनेंस, मार्केटिंग, बिजनेस कम्युनिकेशन आदि विषयों में स्नातक कर सकते हैं।

कॉमर्स स्ट्रीम चुनने वालों के लिए भविष्य में एमबीए, सीएस, सीए, फाइनेंशियल एनालिस्ट जैसे तमाम करियर विकल्प मौजूद हैं, वही आर्ट्‌स के क्षेत्र में स्नातक करने के इच्छुक स्टूडेंट्स अर्थशास्त्र, मनोविज्ञान, इतिहास, राजनीति शास्त्र, दर्शनशास्त्र, समाजशास्त्र, अंग्रेजी, हिन्दी आदि विषयों का चयन कर सकते हैं। बीए और बीए (ऑनर्स) कोर्स एक सदाबहार विकल्प है।

आर्ट्‌स विषय पढ़ने वाले अधिकतर स्टूडेंट्स वैसे तो सिविल सर्विस की तैयारी में जुटे रहते हैं, लेकिन इसके अतिरिक्त, प्रोफेशनल तौर पर एमबीए, जर्नलिज्म, मार्केट एनालिसिस, टीचिंग, एंथ्रोपोलॉजी, ह्यूमन रिसोर्स, एमएसडब्लू आदि क्षेत्रों में भी काफी करियर ऑप्शंस मौजूद हैं।

Advertisements

Give A message for us

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s